ए.पी.एम.सी. के सचिव

1.    यदि जरूरत हो तो समिति की बैठकें और उप-समितियों को बुलाना और उसके बैठकों के कार्यावृत्त बनाए रखना।

2.    समिति और उप समिति की बैठकों में भाग लेने और चर्चा में भाग लेना।

3.    समिति व उपसमिति के संकल्पो को प्रभावी बनाने के लिए उचित कदत उठाना व समिति व उप समिति को आगामी सभा पर द्वारा उठाये गये कदमों के बारे में विस्तार सहित बताना।

4.    समिति के बजट प्रस्ताव तैयार करना।

5.    समिति को प्रस्तुत करने के लिए समिति की समय-समय पर जरूरत अनुसार रिटर्न, ब्यान, अनुमान, आंकड़ों व उनकी रिपोर्ट प्रस्तुत करना।

6.    सदस्यों या कर्मचारियों व बाजार पदाधिकारियों और अन्य लोगों के खिलाफ अनुषासनात्मक कार्यवाई करना व जुर्माना और दंड निधार्रित करना।

7.    व्यापारियों द्वारा ओवरटरेडिंग पर नियंत्रण करना।

8.    किसी भी व्यक्ति द्वारा अधिनियम नियमों व उपनियमों की उलंघना पर निरक्षण रखना।

9.    बोर्ड के प्रबंध निदेषक से लाइसेंस का निलंबन या रद् करने के संबंध में कार्य करना।

10.   समिति के प्रषासन और विपणन के नियमन से संबंधित कार्य करना।

11.   समिति व उप समिति के सामने व्यापार के लेन-देन संबंधी पुस्तकें, पंजीकरण पुस्तक व अन्य दस्तावेज जो समिति व उप-समिति को आवष्यक हो, के सामने रखना व दर्षाना।

12.   समिति के अधिकारियों व कर्मचारियों पर निरक्षण व नियंत्रण रखना।

13.   समिति द्वारा व समिति की तरफ लगने वाले कर को इकट्ठा करना।

14.   समिति का व समिति के खातो में दर्ज रकम की सम्भाल का उत्तरदायीत्व उठाना।

15.   समिति द्वारा वितृत किये जाने वाले धन को नियमानुसार वितृत करना।

16.   समिति के फंडो को परिचालन करना, सम्भालना, सम्पादित करना।

17.   बोर्ड के प्रबंध निदेषक को षीघ्रतापूर्वक  धोखाधड़ी, गबन, चोरी या समिति निधि या संपत्ति के नुकसान के संबंध में जानकारी देना।

18.   नागरिक या समिति की ओर से आपराधिक समिति और आचरण कार्यवाही की ओर से षुरू किया जाना मुकदमों के संबंध में षिकायतों को तरजीहत देनी।

19.   प्राधिकरणों द्वारा समय-समय पर सौंपा जाने वाला कोई भी अन्य कार्यभार