वरिश्ठ सहायक

  1. पदों के सृजन, निरंतरता और उन्नयन।
  2. भर्ती, पदोन्नति एवं पुश्टि।
  3. भर्ती एवं पदोन्नति नियमों को अंतिम रूप देना।
  4. पेंषन मामले, ग्रेच्युटी, जी.आई.एस. और अन्य सेवानिवृति होने वाले लाभो की तैयारी करना।
  5. वेतन नियतन, प्रापराईटर और चयन की अनुदान गे्रड आदि।
  6. प्रोत्साहन प्रदान करना।
  7. न्यायालय के मामले।
  8. अनुषासनात्मक मामले।
  9. विधानसभा मामले।
  10. स्थापना षाखा से संबंधित वार्शिक प्रषासन की रिपोर्ट।
  11. तैनाती एवं स्थानान्तरण और सामान्य आदेष।
  12. कर्मचारियों की सभी श्रेणी की वरिश्ठता सूची।
  13. ऑडिट स्थापना षाखा से सम्बन्धित पारस।
  14. उपरोक्त विशयों पर सामान्य निर्देष।
  15. विविध षिकायत।
  16. आपदा प्रबंधन योजना के तहत सर्जन, नियुक्ति व आर. व पी. नियम आदि।
  17. सभी स्थापना से संबंधित मामले एच.पी.एस.ए.एम.बी. से संबंधित मामलें।
  18. बोर्ड की बैठकों के आयोजन के संबंध में पत्राचार करना।
  19. फाइल सूचकांक रजिस्टर का रखरखाव।
  20. सहायक डायरी का रखरखाव।
  21. व्यक्तिगत फाइलें और स्टाफ के सभी वर्ग की सेवा पुस्तकों के रखरखाव।
  22. सी.पी.एफ. से संबंधित पत्राचार।
  23. विविध मामलों पर सभी विभागों से पत्राचार फाइलें।
  24. कर्मचारियों के सभी वर्ग को वेतन वृद्धि का अनुदान।
  25. विविध मामलों पर सभी विभाग की पत्राचार फाइलें।
  26. मासिक/तिमाही/छमाही/वार्शिक रिपोर्ट और रिटर्न
  27. स्टोर/स्टाक के मामलों से सम्बंधित।
  28. नकदी के मामलें
  29. अनुसुचित/जनजाति कल्याण-रिर्पोट।
  30. आकस्मिक छुट्टी/प्रतिपूरक अवकाष और भत्तों का अनुदान।
  31. उपस्थिति रजिस्टरों का रखरखाव।
  32. चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की तैनाती।
  33. अंग्रेजी टंकण/हिंदी टंकण/कम्प्यूटरीकरण।
  34. सहायक डायरी का रखरखाव।
  35. गार्ड फाइलों के रखरखाव।
  36. समय-समय पर अधिकारियों द्वारा सौंपा जा सकता है जो किसी भी अन्य कार्यभार।